होम


नवीनतम लेख


फांक होंठ और भंग तालु वाले बच्चों की देखभाल

फांक होंठ व भंग तालु क्या है ? यह जन्मतः पाया जाने वाला विकार है जो गर्भावस्था में के सातवें और आठवें हफ़्ते में होंठ व तालु के अधूरे विकास के कारण होतफांक होंठ व भंग तालु क्या है ? यह जन्मतः पाया जाने वाला विकार है जो गर्भावस्था में के सातवें और आठवें हफ़्ते में होंठ व तालु के अधूरे विकास के कारण होत...

गर्भावस्था में स्वस्थ आहार कैसे लिया जाए: “दो जन का भोजन” आखिर है क्या?

अगर आप गर्भवती हैं या गर्भधारण की सोच रही हैं, तो बहुतों ने आपको यह सलाह दी होगी कि गर्भावस्था के दौरान आपको "दो जन के लिए भोजन" करना चाहिए. एक तरह से...

कामकाजी महिलाओं के लिए आहार

अपने काम का जीवन में तालमेल बैठाना कभी भी आसान नहीं रहा. लेकिन जब आप गर्भवती हैं तब अपने खाने-पीने पर ज्यादा ध्यान देना ज्यादा जरूरी हो जाता है क्योंक...

नवीनतम वीडियो



एक प्रश्न सबमिट करें:

क्या आपके पास अपने बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में एक सवाल है कि आप को स्पष्ट जवाब नहीं मिल पा रहे हैं? आगे बढ़ो और अपना प्रश्न यहां सबमिट करें। सबसे अच्छा सवाल हमारे मंचों पर देश के सर्वश्रेष्ठ बाल रोग विशेषज्ञों की प्रतिक्रियाओं के साथ मिलेंगे। क्या आपको अपने बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में एक सवाल है कि आप को स्पष्ट जवाब नहीं मिल पा रहे हैं? आगे बढ़ो और अपना प्रश्न यहां सबमिट करें। सबसे अच्छे सवाल हमारे मंचों पर देश के सर्वश्रेष्ठ बाल रोग विशेषज्ञों की प्रतिक्रियाओं के साथ मिलेंगे।

महीने के फीचर्ड लेख:

गर्भवती महिलाएं बच्चे के लिए पोषक तत्वों को उपलब्ध कराने में मदद करने के लिए शरीर के अतिरिक्त खून के कारण एनीमिया के विकास के लिए अधिक जोखिम में हैं। रक्त मात्रा में वृद्धि के कारण गर्भावस्था के दौरान हल्के एनीमिया सामान्य है, तथापि, गर्भवती महिलाएं अधिक मात्रा में रक्त की मात्रा के कारण एनीमिया के विकास के लिए अधिक जोखिम में होती हैं जिससे शरीर को बच्चे के लिए पोषक तत्व प्रदान करने में मदद मिलती है। रक्त मात्रा में वृद्धि के कारण गर्भावस्था के दौरान हल्के एनीमिया सामान्य है, हालांकि, अधिक

टीकाकरण

 

566778

टीकाकरण (बच्चे का पहला नाम) (बच्चे के जन्म की तारीख)

उदाहरण: टीकाकरण रेखा ०४-११-२०१३


टीकाकरण कभी न भूलें

भारत में मां बाप इस सेवा के लिए भारत में किसी भी मोबाइल फोन से राष्ट्रीय शाॅर्ट कोड ५६६७७८ पर sms भेज सकते हैं, बाई तरफ दिए गए फॉर्मेट में:


हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

अपने नन्हे शिशु की स्वास्थ्य संबंधी नवीनतम जानकारी से अवगत रहें.